शिक्षक दिवस पर शायरी 2019: यह दिवस सम्पूर्ण भारतवर्ष में 5 सितम्बर को डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है | डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी का जन्म 05 सितम्बर 1888 को तिरुत्तनि (दक्षिण भारत) में हुआ था. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के पहले उप-राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति बने थे जो भारतीय संस्कृति के संवाहक, महान विद्वान्, प्रख्यात दार्शनिक और बड़े हिन्दू विचारक थे. इन्हे 1984 में भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया |

गुरु तेरे उपकार का कैसे चुकाऊं मैं मोल,
लाख कीमती धन भला गुरु हैं मेरे अनमोल
Happy Teachers Day 2019

शिक्षक दिवस पर शायरी 2019

शिक्षक दिवस बनाने का अहम् उद्देश्य लोगो को शिक्षा के प्रति जागरूक करना है | जैसा की आप सभी लोग जानते और मानते होंगे की दुनिया में शिक्षा और शिक्षक का अपना अलग ही महत्त्व है | किसी ने गुरुओ के लिए कुछ पंक्तिया कही है यदि आपके जीवन के दुःखो, कष्टों को कोई दूर कर सकता हैं तो वह हैं एक सच्चा शिक्षक और उसकी दी हुई शिक्षा |

गुरू गोविन्द दोऊ खड़े, काके लागूं पांय।
बलिहारी गुरू अपने गोविन्द दियो बताय।।

वो न होते तो मैं भी ठोकरें जहान की खाता,
उसने ज्ञान क्या दिया, मेरी तो ज़िन्दगी बदल गयी |
“Teachers Day par Shayari in Hindi”

शिक्षक दिवस पर शायरी हिंदी में

शिक्षक दिवस पर शायरी 2019 - Teachers Day par Shayari in Hindi 2019 for Facebook and Whatsapp

अगर उन्होंने बचपन में कलम पकडाई न होती
तो हमारे जीवन में ये मौज आई न होती,
कब के मर जाते हम तो जिंदगी की मार से
अगर शिक्षक की छड़ी से हमने मार खायी न होती।

जिंदगी की राह भी यूँ आसान न होती
न होता साथ मेरे ये कारवां, मेरी इस कदर ये शान न होती,
मेरा सब कुछ है मेरे गुरु की बदौलत
अगर गुरु न होते मेरे जीवन में तो मेरी कोई पहचान न होती।

भटकता है जो राहों में जीवन से या निराश है
अपने ही भविष्य की अगर तुझे तलाश है,
तुझे प्रेरणा देकर सही राह वो दिखायेगा
गुरु के तू पास जा, वो ज्ञान का प्रकाश हैं।

Teachers Day par Shayari in Hindi

शिक्षक दिवस पर शायरी 2019 - Teachers Day par Shayari in Hindi 2019 for Facebook and Whatsapp

जो स्थान है उनका हमारे जीवन में
उस स्थान पर कभी किसी को बिठाया नहीं जा सकता,
अध्यापक का अहुदा है माँ सामान जिंदगी में
उनका कर्ज सौ जन्मों तक चुकाया नहीं जा सकता।

देखा न कोहकन कोई फ़रहाद के बग़ैर
आता नहीं है फ़न कोई उस्ताद के बग़ैर

शिक्षा से बड़ा कोई वरदान नहीं है,
गुरू का आशीर्वाद मिले इससे बड़ा कोई सम्मान नहीं है.

Teachers Day par Shayari in Hindi 2019

जिसे देता हैं हर व्यक्ति सम्मान, जो करता हैं वीरों का निर्माण,
जो बनाता हैं इंसान को इंसान, ऐसे गुरु को हम करते हैं प्रणाम.

गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे,
जो अच्छा है जो बुरा है उसकी हम पहचान करे।

गुरूजी आपकी दुआएं और सर पर हाथ चाहता हूँ,
मैं ज्यादा कुछ नहीं आपका आशीर्वाद चाहता हूँ.

अज्ञान को मिटा कर, ज्ञान का दीपक जलाया हैं,
गुरू कृपा से मैने ये अनमोल शिक्षा पाया हैं.

Happy Teachers Day par Shayari in Hindi

गुरू जो सीखता है उसे सीख लो
वरना वक्त की मार खाओगे,
जो शिक्षा गुरू मुफ्त में देते है,
उसे हाथ जोड़कर मांगने से भी न पाओगे।

लक्ष्य प्राप्त कर सकू, आपने मुझे इस योग्य बनाया,
जब महसूस किया मैंने हारा,
आपका दिया ज्ञान बहुत काम आया… गुरु को मेरा नमन.

गुमनामी के अंधेरे में था
पहचान बना दिया
दुनिया के गम से मुझे
अनजान बना दिया
उनकी ऐसी कृपा हुई
गुरू ने मुझे एक अच्छा
इंसान बना दिया।

हैप्पी टीचर्स डे शायरी इन हिंदी

पिता जन्म देता महज, कच्ची माटी होय,
गुरूजनों के शिल्प से, मिट्टी मूरत होय.

धरती कहती है, नदियां कहती है,
अंबर कहते बस यही तराना,
गुरू आप ही वो पावन नूर है
जिनसे रौशन हुआ जमाना।

शिक्षक दिवस के अवसर पर,
मेरे गुरू के चरणों में प्रणाम,
मेरे गुरू जी कृपा राखियों
तुझे ही अर्पण मेरे प्राण।

हैप्पी टीचर्स डे शायरी इन हिंदी 2019

आशा करता हूँ कि इस पोस्ट में दी गई हैप्पी टीचर शायरी, शिक्षक दिवस पर शायरी, शिक्षक दिवस शायरी 2019, गुरू शायरी, शिक्षक दिवस शायरी, टीचर्स डे शायरी, Techer Shayari, Teachers Day Shayari, Guru par Shayari, Shikshak Shayari, Shayari on Teachers Day in Hindi, Shikshak Diwas Shayari, शिक्षक दिवस पर शायरी 2019, Fathers Day par Shayari, Teachers Day par Shayari in Hindi, Teachers Day par Shayari in Hindi for facebook, Ganesh Chaturthi par Shayari आपको पसंद आएं होंगे। अगर आप को यह पोस्ट पसंद आयी हो तो ये पोस्ट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और अपने शिक्षकों को सप्रेम सम्मानपूर्वक आभार जरूर प्रकट करे |

शिक्षक दिवस पर शायरी 2019 - Teachers Day par Shayari in Hindi 2019 for Facebook and Whatsapp

प्रिंसिपल पर शायरी
उपकृत है हम शिष्य सब पाकर शीतल छाँव
अतिशय तब तब हो गया जब जब छूते पाँव
वरदायी है आपका यह सानिध्य महान
वर देना कर पाए हम सार्थक आपका नाम

इकनोमिक के टीचर पर शायरी
खुशहाली के वास्ते रखो याद सन्देश
गाँव शहर घर राज्य सब चले अर्थ से देश
रुपया पैसो का गाड़ित और हानि धन लाभ
फंडे इकनोमिक के हमे सिखाते आप

बायो टीचर पर शायरी 
बॉडी खुद एक साइंस है, है जीवन विज्ञानं
जितना जानो कम लगे अद्धभुत है है ये ज्ञान
सरल शब्द में दे बता लॉजिक वाली बात
बायो की टीचर लगे हमको एक सौग़ात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *