हिंदी कविता शायरी | Hindi Kavita Shayari : हिंदी कविता शायरी आज के इस पोस्ट में मैं आपके साथ अपनी वेबसाइट हिंदी कविता शायरी के बारे में ही बात करना चाहूंगा | क्यूंकि बहुत से मेंबर और जो लोग मुझे फॉलो करते है उन्होंने बहुत से सवाल मुझसे पूछे है की हिंदी कविता शायरी है क्या | बस आज में यही बताने वाला हु इस पोस्ट के माध्यम से की आखिर में हिंदी कविता शायरी है क्या ?

हिंदी कविता शायरी

हिंदी कविता शायरी – Hindi Kavita Shayari

जैसा की आप लोगो को इसके नाम से ही पता चल रहा होगा की एक ऐसा संग्रह जहां आपको हिंदी में कविता और शायरी मिले वही हिंदी कविता शायरी है | लेकिन में आप लोगो के साथ इस वेबसाइट में इसके अलावा निबंध, अनमोल विचार, भाषण, आदि भी शेयर करता रहता हु क्युकी मेरा उद्देश्य लोगो को अधिक से अधिक जानकारी देना है इसलिए में कविता और शायरी के अलावा ये पोस्ट्स भी बनता रहता हु |

मेरे बारे में हिंदी कविता शायरी – About Hindi Kavita Shayari

मेरा नाम अजय पांडेय है में फैज़ाबाद का रहने वाला हु |  मेरा व्यवसाय सॉफ्टवेयर इंजीनियर है | लेकिन पार्ट टाइम में आप लोगो के लिए पोस्ट भी शेयर करता रहता हु जिससे की आप लोग आने वाले प्रमुख दिनों के बारे में अवगत रहे | मुझे शायरी लिखना व् बोलना काफी पसंद है लेकिन अपने व्यवसाय से टाइम निकलना काफी मुश्किल होता है |

फिर भी में आप लोगो के लिए कुछ शायरिया और कविता शेयर कर रहा हु जो मुझे निजी पसंद है | आशा करता हु की ये कविता और शायरिया आपको भी उतनी ही पसंद आएगी जितना की मुझे |

हिंदी कविता शायरी

शायरी फॉर हिंदी कविता शायरी

लगा के इश्क़ की बाज़ी सुना है , दिल दे बैठे हो
मोहब्बत मार डालेगी, अभी तुम फूल जैसे हो..

कभी देखा है किसी अंधे को, किसी का हाथ पकड़ के चलते हुए.
मैंने मोहब्बत में कुछ यूँ तुम पर, भरोसा किया था…

चाहते हैं वह हर रोज नया चाहने वाला,
ए खुदा मुझे रोज इक नयी सूरत दे दे.

हिंदी शायरी कविता –  Hindi Kavita Shayari

कामयाबी हमने तेरे लिए खुद को यूँ तैयार कर लिया,
मैंने हर जज़्बात बाज़ार में रख कर इश्तेहार कर लिया..

जिंदगी से कुछ ज्यादा नहीं,
बस इतनी से फरमाइश है,
अब तस्वीर से नहीं,
तफ्सील से मलने क ख्वाइश है..

उसे मैं क्या, मेरा खुमार भी मिले तो बेरहमी से तोड़ देती है,
वो ख्वाब में आती है मेरे, फिर आकर मुझे छोड़ देती है….

जाकिर खान शायरी – हिंदी कविता

इश्क़ को मासूम रहने दो नोटबुक के आखिरी पन्ने पर,
आप उसे किताबो में डालकर मुश्किल न कीजिये..

अब कोई हक़ से हाथ पकड़कर महफ़िल में दोबारा नहीं बैठाता,
सितारों के बीच से सूरज बनने के कुछ अपने ही नुकसान हुआ करते है..

BOHOT MAASUM LADKI HAI, ISHQ KI BAAT NAHI SAMAJHTI,
NA JAANE KIS DIN MEIN KHOI REHTI HAI, MERI RAAT NAHI SAMJHTI…
HAAN, HMM, SAHI BAAT HAI…! TO KEHTI HAI,
ALFAAZ SAMAJH LETI HAI MAGAR JAZBAAT NAHI SAMJHTI…

इन गाव की घोर अँधेरी रात में अक्सर सुनहरी मशालें लेकर
मासूम परिन्दों की मुसीबत का पता ये जुगनू लगाते हैं…

माँ / मुनव्वर राना – हिंदी कविता शायरी

Bewafa Shayari Image - Bewafa Shayari With Image

मैं इंसान हूँ बहक जाना मेरी फितरत में शामिल है
हवा भी उसको छू के देर तक नशे में रहती है

लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो मुझसे ख़फ़ा नहीं होती

ऐ अँधेरे! देख ले मुँह तेरा काला हो गया
माँ ने आँखें खोल दीं घर में उजाला हो गया

इस तरह मेरे गुनाहों को वो धो देती है
माँ बहुत ग़ुस्से में होती है तो रो देती है

मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ
माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊँ

बहन का प्यार माँ की ममता दो चीखती आँखें
यही तोहफ़े थे वो जिनको मैं अक्सर याद करता था

ऐसे तो उससे मोहब्बत में कमी होती है,
माँ का एक दिन नहीं होता है सदी होती है !

हर एक हर्फ़ का अंदाज़ बदल रखा हैं
आज से हमने तेरा नाम ग़ज़ल रखा हैं
मैंने शाहों की मोहब्बत का भरम तोड़ दिया
मेरे कमरे में भी एक “ताजमहल” रखा हैं

राहत इंदौरी – हिंदी कविता शायरी – हिंदी कविता शायरी – Hindi Kavita Shayari

फैसला जो कुछ भी हो, हमें मंजूर होना चाहिए
जंग हो या इश्क हो, भरपूर होना चाहिए
भूलना भी हैं, जरुरी याद रखने के लिए
पास रहना है, तो थोडा दूर होना चाहिए

माँ मुझे देख के नाराज़ न हो जाए कहीं
सर पे आँचल नहीं होता है तो डर होता है

किताबों से निकल कर तितलियाँ ग़ज़लें सुनाती हैं
टिफ़िन रखती है मेरी माँ तो बस्ता मुस्कुराता है

अगर आप चाहे तो हमे सोशल मीडिया पर आसानी से फॉलो कर सकते है
फेसबुक : https://www.facebook.com/hindikavitashayarii/
इंस्टाग्राम : https://www.instagram.com/hindi_kavita_shayari/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *